Header Ads

क्या इन सवालों का जवाब विश्वनाथ मंदिर न्यास/ जिला प्रशासन वाराणसी / उ. प्र. शासन देगा ? : संजीव कुमार (AAP )


विश्वनाथ मंदिर वाराणसी 


क्या इन सवालों का जवाब विश्वनाथ मंदिर न्यास/ जिला प्रशासन वाराणसी / उ. प्र. शासन देगा ? : संजीव कुमार (AAP )



वाराणसी : आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल प्रभारी संजीव सिंह ने विश्वनाथ मंदिर को लेकर मंदिर न्यास, जिला प्रशासन और योगी सरकार सात सवाल पूछा है। 


1- यदि समाचार पत्रों में छपी खबरों से मान लिया जाय कि कथित " कॉरिडोर " योजना निरस्त कर दिया गया है।तो जिला प्रशासन स्थानीय निवासियों या धरोहर बचाओ समिति को लिखित आदेश की प्रति क्यों नहीं देता ?




2- दूसरी तरफ समाचार पत्रों के द्वारा तीन महीने में योजना को पूरा भी कर लेना है। तो 526 करोङ में से 40 करोङ की राशि जो निर्गत किया गया है या आगे शेष राशि किस मद में किया जायेगा ?

3- उपरोक्त योजना के लिये 526 करोङ रूपये केन्द्र या राज्य सरकार के किस मंत्रालय से निर्गत किया जा रहा है ?


4- जब विश्वनाथ मंदिर न्यास का अधिग्रहण प्रशासन/शासन द्वारा नहीं है, तो मंदिर न्यास क्षेत्र के घरों को चोरी छिपे क्यों खरीद रहा है ? जिला प्रशासन और मंदिर ट्रस्ट का इस खरीद फरोख्त में क्या साझेदारी है ? जबकि मंदिर के खाते का आजतक आय व्यय की कोई रिपोर्ट नहीं है।

5- कथित कॉरिडोर को लेकर भारत गणराज्य में लोकतांत्रिक व्यवस्था के तहत शहर की बङी पंचायत " नगर निगम " में जहाँ प्रथम नागरिक के रूप में अर्थात नगर महापौर तथा सम्मानित पार्षदगणो के सम्मुख भी इस योजना की कभी चर्चा परिचर्चा की गयी ? जहाँ तक वो भी अनभिज्ञ है तो आखिर काशीवासियों का ये विकास/विनाश कौन लोग तय कर रहे है जहाँ जनता के चुने हुए प्रतिनिधि और शहर पंचायत (नगर निगम) तक मौन है ?


6- कुछ दिन पूर्व सम्मानित राज्य विधान परिषद् सदस्य श्री शतरूध्द प्रकाश द्वारा उपरोक्त प्रकरण पर शासन द्वारा जवाब माँगा गया तो उसका लिखित प्रपत्र जनता के बीच क्यों नहीं आया ? आखिर उ. प्र. शासन की मंशा क्या है ?

7- हेरिटेज जोन के तहत जिला प्रशासन/शासन अवगत करायें कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय/उच्च न्यायालय के आदेशों के अनुसार इस क्षेत्र को कैसे संरक्षित/ सुरक्षित रखेगा ? जो कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51के द्वारा हमारा अधिकार बनता है।



" न समझोगे तो मिट जाओगे ऐ हिन्दोस्तां वालों,
तुम्हारी दास्ताँ तक भी न होगी दास्ताँनो में, "

 संजीव कुमार 
(आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश )

No comments