Header Ads

कुशीनगर एसपी की सूझ बुझ से बच गयी कई लोगो की जिन्दगी

कुशीनगर एसपी की सूझ बुझ से बच गयी कई लोगो की जिन्दगी
कुशीनगर एसपी की सूझ बुझ से बच गयी कई लोगो की जिन्दगी


उत्तर प्रदेश के जनपद कुशीनगर के पुलिस अधीक्षक श्री राजीव नरायण मिश्र और उनके टीम की सूझ बुझ के चलते सात परिवारों की जिंदगी बरबाद होने से बचा लिया गया। पुलिस कप्तान और उनकी टीम ने ऐसे मामला का खुलासा किया जिसमे सात निर्दोष लोगो की जिंदगी दाव पर लगी थी। इन सभी सात लोगो पर हत्या की फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस द्वारा प्रेसकांफ्रेंस कर घटना का पूरा विवरण बताया।

यह भी पढ़े : कुशीनगर - अबैध शस्त्र सहित पशु तस्कर गिरफ्तार






जिसमे एसपी कुशीनगर के निर्देशन में सर्विलांस और स्वाट टीम ने मामले का पर्दाफास करते हुए मुख्य आरोपीयो को सलाखों के पीछे पंहुचा दिया। इस मामले में फसे निर्दोष लोगो की जिंदगी तबाह होने से बचा लिया। बरी हुए निर्दोषो के परिवार के लोग एसपी का धन्यवाद करते नहीं थक रहे है।

यह भी पढ़े : चोरी की 13 मोटरसाइकिल सहित चार वाहन चोर गिरफ्तार



आपको बतादे कि, जयराम गौड़ ग्राम भिसवा  के रहने वाले थे। 19 नवम्बर को कुछ बदमाशों ने हत्या कर दिया था। हत्या के मामले में मृतक जयराम गौड़ के बेटे संतोष गौड़ ने आठ लोगो के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले को खुद के संज्ञान में लेते हुए एसपी श्री राजीव नरायण मिश्र ने जांच के आदेश दिए। जांच के लिए स्वाट टीम, सर्विलांस टीम के साथ साथ कोतवाली पुलिस को लगाया गया। पुलिस जांच में पता चला कि जिन लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है वो निर्दोष है और घटना को अंजाम देने वाले कोई और है। 


पुलिस ने इस मामले में दो आरोपी को गिरफ्तार किया है और एक आरोपी फरार है। गिरफ्तार अभियुक्तों ने स्वीकार किया है कि उन्होंने 19 नवम्बर को जयराम गौड़ की हत्या की थी। गिरफ्तार आरोपियों में मनोज शर्मा और गोलू मिश्रा नाम का युवक शामिल है। 


कुशीनगर की लेटेस्ट समाचार के फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे 

No comments