Header Ads

सड़क दुर्घटना में मौत के बाद गांव अवरवा सोफीगंज में छाया मातम

सड़क दुर्घटना में मौत के बाद गांव अवरवा सोफीगंज में छाया मातम 

कुशीनगर :  अमरेंद्र मणि उर्फ नन्हे धर्मपत्नी विजयलक्ष्मी जीवन में साथ-साथ रहे। मां वर्षों पहले छोड़ कर चल बसीं।दोनों की एक ही बनी चिता को मुखाग्नि मृतक के बड़े बाबू जी हरिवंश मणि त्रिपाठी ने दी। उनकी दयनीय दशा को देखकर सबकी आंखें नम हो गईं। 







तुर्कपट्टी थाना क्षेत्र के गांव अवरवां सोफीगंज निवासी 32 वर्षीय अमरेंद्र त्रिपाठी व उनकी पत्नी 30 वर्षीय विजयलक्ष्मी की गुरुवार की रात सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने के कारण मौत हो गई थी। शुक्रवार की सुबह दंपती की अर्थियां साथ-साथ उठीं और दोनों का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया तो पूरा गांव रो पड़ा। 






दंपती के एक साथ दुनिया को यूं छोड़ जाने से गांव का हर शख्स दुखी नजर आया। लोग कहते सुने गए कि जनम-जनम के इन साथियों ने प्रेम की एक मिसाल कायम की है। नम आंख और भारी दिल से गांवों के हर एक शख्स ने दंपती के प्रेम को सलाम कर उन्हें विदा किया। 








दुर्घटना में उनके दो बच्चे क्रमश: आठ वर्षीय पुत्र देव एवं छह वर्षीय पुत्री आराध्या भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। पुत्र ने जब मुखाग्नि दी तो मौजूद सभी लोग फफक-फफक कर रो पड़े।


No comments